Nazar24x7 हरपल - हरदम
www.nazar24x7.com समाचारों व् विचारों का ऐसा पोर्टल है जो शहरों की चकाचौंध से इतर गाँव की सौंधी महक से लबरेज , आप तक उन ख़बरों को लाने का एक गिलहरी प्रयास कर रही है जिन्हें भारत की मुख्यधारा मीडिया अक्सर दबा देती है या तो नजरअंदाज कर देती है | आप निश्चिन्त हो सकते हैं क्योंकि वहाँ रहेगी हमारी नज़र 24x7 हरपल -हरदम |

कलियुगी बाप ने अपनी चार बेटियों को मारकर पुल के नीचे फेंका तीन बची एक की मौत

तीनों बेटियों की हालात गंभीर , पीएमसीएच में चल रहा ईलाज , कलियुगी बाप गिरफ्तार

0

@नज़र डेस्कबिहार :- एक सगा बाप क्या अपनी बेटियों साथ ऐसा कर सकता है जैसा नंदू यादव ने अपनी बेटियों के साथ किया | इस कलियुगी बाप के कारनामे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे और आप सोचने पर मजबूर जाएंगे की हमारा समाज कहाँ जा रहा है |
जी हाँ बिहार में एक ऐसी ही घटना हुई है जिसपर गंभीरता से सोचने पर विवश कर दिया है | एक तरफ सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत बेटी वरदान है कि नारे दिए जा रहे हैं वहीं समाज के कुछ लोग मानसिक रूप से बीमार हो गए हैं ऐसा ही एक मामला लखीसराय जिले के हलसी प्रखंड के अंतर्गत दामोदरपुर गांव की है जहाँ के एक बाप ने अपने ही कलेजे के टुकड़े को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल सालों पहले सुलेखा की शादी सिकंदरा थाना क्षेत्र की राईडीह निवासी नंदू यादव से हुई थी। सुलेखा ने चार बेटियों करिश्मा ,भवानी ,प्रीति और प्रियंका को जन्म दिया।

घटना के लगभग सात दिन पहले ही सुलेखा अपने मायके आई थी। पति द्वारा पीटे जाने की मामला कोई नया नहीं था । लेकिन पति का अत्याचार से परेशान हो गई थी। अब वह अपनी बेटियों तक मारपीट करने लगा था। जिसके बाद सुलेखा अपने बच्चियों के साथ मायके लौट गई। लेकिन कलयुगी जल्लाद बाप ने उसका पीछा यहां तक भी नहीं छोड़ा। अहले सुबह नंदू यादव ससुराल पहुंचा और खुद जहर खाने की बात कह पत्नी को अपने साथ चलने को कहा लेकिन पत्नी ने ससुराल जाने से साफ साफ मना कर दिया । उसके बाद जल्लाद नंदू यादव ने अपने चारों बच्चियों को मोटरसाइकिल पर बैठाकर गमछा से बांधकर घर से निकल गया। घर वालों को लगा कि बच्चियों के साथ वो अपने घर ले गया होगा । लेकिन उस शैतान बाप ने चारों लड़की को जान से मारने के लिए ले गए थे। बच्ची को नहर किनारे पुल के पास ले जाकर पटक पटक कर मारा और पुल के नीचे फेंककर चलते बने। उसे लगा की कहानी खत्म हो गया है।
जाको राखे साइयाँ मार सके ना कोय
अब इसे कुदरत का करिश्मा हीं कहिए की पड़ोसियों की नजर उन घायल रोते बिलखते बच्चियों पर पड़ी और सभी बच्चों को उठाकर उसे घर पहुंचा दिया। हालाँकि चार बच्चियों में से एक भवानी की मौत घटनास्थल पर हो गई। जबकि तीन की हालत चिंताजनक है। जिसे लखीसराय सदर अस्पताल में प्राथमिक चिकित्सा के बाद बेहतर इलाज के लिए पटना के पीएमसीएच रेफर कर दिया गया । इधर कलयुगी बाप घटनास्थल की हाल चाल जानने के लिए अस्पताल चोरी चुपके पहुंच गया। इस बात की जानकारी कवैया पुलिस को मिली त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को अस्पताल से ही गिरफ्तार कर लिया । घटना सुचना पाकर अस्पताल पहुँची बच्चियों की माँ ने इस घटना में संलिप्त आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More